Books - बौद्धिक संवाद का अभिप्राय : वैचारिक अस्पृश्यता के पीछे तर्क और ताकत